आज हल्द्वानी पहुंचेगा शहीद चन्द्रशेखर का पार्थिव शरीर, सैन्य सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार।

आज हल्द्वानी पहुंचेगा शहीद चन्द्रशेखर का पार्थिव शरीर, सैन्य सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार। बीते कल मौसम खराब के चलते नहीं पहुंच पाया था पार्थिक शरीर। सुबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शहीद जवान को श्रद्धांजलि देने पहुंचेंगे हल्द्वानी।  38 साल पहले सियाचिन में शहीद हुए थे उत्तराखंड के लांसनायक चंद्रशेखर हरबोला। मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट के हाथी बिंता निवासी चंद्रशेखर हरबोला 19 कुमाऊं रेजिमेंट में लांसनायक थे। 1975 में सेना में हुए थे भर्ती ओर 1984 में 20 सैनिकों की टुकड़ी सियाचिन में पेट्रोलिंग के लिए भेजी गई थी जिसमें ग्लेशियर टूटने से 20 सैनिक शहीद हो गए थे।सर्च ऑपरेशन में 15 सैनिकों के पार्थिक शरीर मिल गए थे लेकिन पांच सैनिकों का अभी तक पता नहीं चल सका था। 38 साल के बाद सर्च ऑपरेशन में बर्फ के नीचे दबा मिला शहीद चंद्रशेखर हरबोला का पार्थिव शरीर।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates