बड़कोट रेंज में मनाया जा रहा है वन महोत्सव धरती को हरा भरा रखने के लिए हजारों की संख्या मे औषधीय और फलदार लगाए जा रहे हैं पौधे i

डोईवाला ,-  वन महोत्सव भारत सरकार द्वारा वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देने के लिए प्रति वर्ष जुलाई के प्रथम सप्ताह में आयोजित किया जाने वाला एक महोत्सव है। यह १९६० के दशक में पर्यावरण संरक्षण और प्राकृतिक परिवेश के प्रति संवेदनशीलता को अभिव्यक्त करने वाला एक आंदोलन था। जिसे आज भी सुचारू रूप से चलाया जा रहा है


बारिश शुरू होते ही धरती को हरा-भरा बनाए रखने के लिए देहरादून वन प्रभाग मना रहा है वन महोत्सव हजारों की संख्या में अवतार और औषधीय लगाए जाएंगे पौधे देहरादून वन प्रभाग के अंतर्गत बड़कोटरेंज के लालतप्पड क्षेत्र में खाली पड़ीवन भूमि और कई गांव में विभाग द्वारा के ग्रामीणों को फलदार पौधो का वितरण कर वृक्षारोपण किया गया। विभाग द्वारा ग्रामीणों को वन महोत्सव की जानकारी दी गई। साथ ही ग्रामीणों को पेड़ लगाने के लिये प्रोत्साहित किया गया।

वन क्षेत्राधिकारी धीरज रावत ने कहा की वन महोत्सव के अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र में फलदार और औषधीय पौधो का वितरण किया जा रहा है। कहा इंसान को यदि इस धरती पर जीवित रहना है तो उसे सांस लेने की जरूरत है। यदि आक्सीजन नहीं होगी तो हम जीवित भी नहीं रह पाएंगे। जिस तरह से रहना, खाना, पीना व सोना जरूरी है, वैसे ही आक्सीजन भी अति आवश्यक है। आक्सीजन लेने का एकमात्र जरिया पेड-पौधे हैं। उन्होंने कहा कि यदि पेड-पौधे नहीं होंगे तो हम आक्सीजन नहीं ले सकते । जिंदगी का पर्याय ही वृक्ष हैं। ऐसे में लोगों को पेड़-पौधों के संरक्षण के लिए आगे आना चाहिए।बड़कोट रेंज के वन कर्मचारी दिनेश घिल्डियाल ,अभिषेक राठौर ,राजू राणा ,सुरत सिंह बिष्ट, रीना ,अंशु ,शिवम मौजूद रहे।

 

 

संजय राठौर डोईवाला

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates