चारधाम में दर्शन करने वाले तीर्थ यात्रियों का आंकड़ा एक लाख पार …

Rudraprayag

चारधाम में दर्शन करने वाले तीर्थ यात्रियों की आंकड़ा एक लाख पार हो गया है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में प्रतिदिन यात्रियों की संख्या की शर्त हटने के बाद चारधाम यात्रा रफ्तार पकड़ रही है।
उत्तराखंड देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुताबिक बुधवार को चारों धामों में 7876 यात्रियों ने दर्शन किए। जिसमें बदरीनाथ धाम में सबसे अधिक 2418 यात्रियों ने दर्शन किए। अब तक चारों धामों में 103860 तीर्थ यात्री दर्शन कर चुके हैं।
केदारनाथ में प्रतिदिन दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ने से केदारपुरी बाबा के जयकारों से गूंज रही है। साथ ही सांयकालीन आरती में भी काफी संख्या में श्रद्धालु शामिल हो रहे हैं। बीते पांच अक्तूबर को ई-पास की बाध्यता खत्म होने के बाद से धाम में प्रतिदिन शिव भक्तों की संख्या बढ़ रही हैबुधवार को केदारनाथ में शाम तक 4000 से अधिक शिव भक्त दर्शन कर चुके थे। वहीं सायंकालीन आरती में भी 1500 से अधिक श्रद्धालु शामिल हुए।
यात्रा प्रभारी युद्धवीर सिंह पुष्पवाण ने बताया कि बीते 18 सितंबर से अभी तक 48 हजार से अधिक केदारनाथ में बाबा के दर्शन कर चुके हैं।केदारनाथ यात्रा के दिनों दिन रफ्तार पकड़ने से होटल, रेस्टोरेंट, लॉज संचालकों को अच्छी बुकिंग मिल रही है। साथ ही अन्य दुकानदारों को भी नियमित ग्राहक मिल रहे हैं। यात्रा से केदारघाटी से लेकर पैदल मार्ग व धाम में रौनक बनी हुई है। वहीं, हेलीकॉप्टर की बुकिंग के लिए हेली कंपनियों के कार्यालय काउंटरों पर सुबह से यात्रियों की भीड़ लग रही है।यात्रियों के जरूरी दस्तावेजों की सोनप्रयाग में सघन जांच की जा रही है। यात्रियों के पंजीकरण के साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन की रिपोर्ट और आधार कार्ड मांगा जा रहा है। उधर, हाईकोर्ट के आदेश के बाद चारधाम यात्रा के लिए देश के विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु उत्तराखंड पहुंच रहे हैं।

चारधाम यात्रा रूट के चेक पोस्टों पर पर्याप्त पुलिसकर्मियों की तैनाती नहीं होने से जाम और अन्य समस्याएं हो रही हैं। इस बाबत आरटीओ ने होमगार्डों की तैनाती के लिए मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा है। चारधाम यात्रा सकुशल संपन्न कराने को लेकर सरकार, शासन की ओर से तमाम तैयारियां की गई हैं।
परिवहन विभाग की ओर से यात्रा मार्ग पर जगह-जगह चेकपोस्ट बनाए गए हैं। यहां पर विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों की तैनाती है, लेकिन पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी नहीं होने से जाम और वाहनों की चेकिंग में समस्या हो रही है।
अधिकारियों के अनुसार भीड़ बढ़ने और जाम की स्थिति में दूसरे राज्यों से आने वाले वाहनों को बगैर चेकिंग के रास्ता देना पड़ता है।आरटीओ (प्रवर्तन) संदीप सैनी ने बताया कि चारधाम यात्रा के लिए जितने भी चेकपोस्ट हैं वहां उपनल के जरिये होमगार्डों की तैनाती को लेकर परिवहन मुख्यालय को पत्र लिखा गया है। होमगार्ड मिलने पर उन्हें चेकपोस्टों पर तैनात कर दिया जाएगा। साथ ही चेकपोस्टों पर अधिकारियों-कर्मचारियों की कमी को भी दूर करने की कोशिश की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates