भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट आठ मई को खुलेंगे

नरेंद्रनगर राज दरबार में तय हुई तिथि, आगामी आठ मई को खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट वसंत पंचमी के दिन गाड़ू घड़े को राजमहल के सुपुर्द किया जाएगा। गाड़ू घड़े में तिल के तेल से कपाट खुलते वक्त भगवान बदरीनाथ का अभिषेक किया जाएगा।

चमोली– के कपाट खुलने की तिथि पांच फरवरी वसंत पंचमी के दिन नरेंद्रनगर राज दरबार में तय हो गई है। करोड़ों हिंदुओं की आस्था के प्रतीक भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट आगामी आठ मई को प्रात: छह बजकर 15 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे।

22 अप्रैल को राजदरबार में तिलों का तेल निकालेंगी सुहागिन महिलाएं

राजपुरोहितों ने टिहरी नरेश महाराजा मनुज्येंद्र शाह की कुंडली देखकर धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित की। वसंत पंचमी के मौके पर नरेंद्रनगर राजमहल में आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल ने वैदिक मंत्रोच्चारण और विधि-विधान के साथ गणेश पूजन, पंचांग पूजन और चौकी पूजन के बाद महाराजा का वर्षफल और ग्रह नक्षत्रों की दशा देखकर भगवान कपाट खोलने की तिथि घोषित की। भगवान बद्री विशाल के महाभिषेक के लिए स्थानीय सुहागिन महिलाएं टिहरी सांसद महारानी माला राज्य लक्ष्मी शाह के नेतृत्व में 22 अप्रैल को राजदरबार में तिलों का तेल निकालेंगी। उसके बाद गाडू घड़ा यात्रा को लेकर डिम्मर पंचायत के लोग अपने गंतव्य के लिए प्रस्थान करेंगे।  नरेंद्र नगर राजमहल में धाम के रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, राजेश नंबूदरी, बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, उपाध्यक्ष किशोर पंवार, सदस्य आशुतोष डिमरी, भास्कर डिमरी, श्रीनिवास पोस्ती, वीरेंद्र सिंह असवाल, राजपाल जड़धारी, मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, विशेष कार्याधिकारी राकेश सेमवाल, रमेश तिवारी, डॉ. हरीश गौड़, प्रमोद नौटियाल, डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के कार्यकारी अध्यक्ष विनोद डिमरी श्रीराम, विपुल डिमरी, अरुण डिमरी, राकेश डिमरी, सुरेश डिमरी, ज्योतिष डिमरी, गुंजन डिमरी व पुजारीगण श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के पदाधिकारी व अधिकारी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

 

19 मई को खुलेंगे चतुर्थ केदार रुद्रनाथ मंदिर के कपाट

वहीं शनिवार को चतुर्थ केदार रुद्रनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तिथि भी घोषित कर दी गई है। आगामी 19 मई को चतुर्थ केदार रुद्रनाथ मंदिर के कपाट खुलेंगे। 15 मई से 17 मई तक गोपीनाथ मंदिर गोपेश्वर में कपाट उद्घाटन की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। 17 मई को रुद्रनाथ की चल विग्रह डोली गोपेश्वर से रुद्रनाथ के लिए प्रस्थान करेगी और 19 मई को पूर्ण विधि-विधान के साथ सुबह 8:00 बजे रुद्रनाथ जी के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates