शिविर की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका, जहां बच्चे अपने मानसिक विकास के साथ साथ बौद्धिक विकास की ओर अग्रसर रहते है- डॉ डी सी नैनवाल

डोईवाला:

शहीद दुर्गामल्ल स्नातकोत्तर महाविद्यालय द्वारा आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर में आज रा० से० योजना के तृतीय दिवस में स्वयंसेवियों द्वारा सरस्वती विद्या मंदिर के परिसर की एवं विद्यालय प्रांगण से सटे सभी जगहों की सफाई की गई।

 

महाविद्यालय से शिविर में पधारे प्राचार्य डॉ डी सी नैनवाल ने स्वयंसेवियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन मे शिविर की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है, जहां बच्चे अपने मानसिक विकास के साथ साथ बौद्धिक विकास की ओर अग्रसर रहते है।

बौद्धिक सत्र में आज स्वच्छता एवं पर्यावरण पर महाविद्यालय की जूलोजी डिपार्टमेंट की प्राध्यापक डॉ संगीता रावत ने अपने विचार रखे।

एवं महाविद्यालय की रसायन विज्ञान की प्राध्यापक डॉ किरन जोशी जी ने राष्ट्रीय सेवा योजना के अपने अनुभव साझा किए।

पूर्व स्वयंसेवी छात्र रहे अंकित टम्टा ने भी स्वयंसेवियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक मनुष्य में एक अलग प्रकार की योग्यता होती है हमको अपनी योग्यता को पहचानते हुए उस क्षेत्र में काम करना चाहिए।

 

कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ अंजलि वर्मा ने किया एवं डॉ नूर हसन ने आगन्तुक अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस दौरन कार्यक्रम में रश्मि ममगाईं, गौरव डंडरियाल, पवन तिवारी आदि उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates