प्रदेश में अगले कुछ दिन तक मौसम के शुष्क रहने की संभावना, तापमान में आएगी गिरावट

देहरादून। प्रदेश में अगले कुछ दिन तक मौसम के शुष्क बने रहने की संभावना है। हालांकि, सुबह और शाम को तापमान में गिरावट आएगी। इससे मैदानों में कोहरा छाने की शुरुआत के आसार बन रहे हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मंगलवार को अधिकतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की कमी आ सकती है। साथ ही मैदानी क्षेत्रों में कहीं-कहीं सुबह के समय उथला कोहरा छाये रहने की संभावना है। उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं हल्के बादल छाए रहेंगे। पहाड़ में ठंडी हवा चलने की भी संभावना है। इधर, सोमवार को चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी के ऊंचाई वाले हिस्सों में दोपहर में करीब दो घंटे हल्के बादल छाये रहने और ठंडी हवा चलने से ठंड में इजाफा हुआ।

पौड़ी, टिहरी और पिथौरागढ़ जनपद में दिनभर धूप खिली रही। दून में अधिकतम तापमान 21.7 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मसूरी और देहरादून के गढ़ी कैंट क्षेत्र में सुबह के समय सड़क पर पाला जमने लगा है। विकासखंड देवाल की ग्रामीण सड़क खेता-मानमती पर पिछले चार दिन से मलबा आने से बंद है जिससे अब क्षेत्र में आवश्यक सामग्री प्रभावित हो गई है। सड़क के दोनों ओर दो दर्जन से अधिक वाहन भी फंसे हैं। जबकि मलबे में दबी एक मारूति वैन पिंडर नदी में समा गई है।

गुरुवार से मोटर मार्ग पर आवागमन ठप होने से मोटापा, चनियाली, तोरती, झलिया, सौरीगाड, हरमल, खेता मानमती, नलधूरा,मेलखेत, उफथर, रामपुर, गुडक,कुवरपाटा सहित जनपद बागेश्वर के कुंवारी बदीयाकोट, भराडकाडे, आदि गांव में राशन व फल-सब्जियां नहीं पहुंच पा रही है वहीं गाव का मुख्यालय से संपर्क कट जाने से क्षेत्रवासी परेशान है। ग्राम प्रधान उदयपुर सरोजनी बागड़ी, उरबी दत्त जोशी,क्षेपस पान सिंह गडिया, रूपचन्द्र कुंवर, ने कहा कि सुयालकोट में बड़ी मात्रा में चट्टान टूट कर गिर रही यह स्थान डेंजर जोन बन गया है। पीएमजीएसवाइ के ईई प्रमोद गांगडी ने बताया कि लगातार चट्टान दरकने से 50 फीट सड़क पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गईं हैं। जब मिट्टी, पत्थर आना बंद होगा उसे बाद ही मोटर मार्ग खुल सकेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates