ऋषिकेश गंगा भोगपुर स्थित पुलकित आर्य की फैक्ट्री में लगी आग, पढ़िए पूरी खबर 

ऋषिकेश। गंगा भोगपुर स्थित पुलकित आर्य की फैक्ट्री में आग लग गई। आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची है। पुलिस के मुताबिक शॉर्ट सर्किट से लगी आग। वहीं वंतत्रा रिजॉर्ट और फैक्टरी के बाहर पहले से पीएसी तैनात थी। रविवार सुबह पुलकित आर्य की फैक्टरी में आग लगने की खबर फैलते ही दमकल की टीम मौके पर पहुंची। आग बुझाने के लिए टीम जुटी हुई है। अंकिता हत्याकांड के बाद आरोपी पुलकित आर्य के रिजॉर्ट और फैक्टरी दोनों को सील कर दिया गया था।  इसके बाद से ही यहां पीएसी तैनात की गई थी। पुलकित आर्य की यह फैक्टरी ऋषिकेश से करीब 25-26 किलोमीटर दूर है। जहां संदिग्ध परिस्थिति में आग लगने की घटना सामने आई है।

जानिए मामला 

– सुबह 9:40 बजे – पुलकित आर्य की स्वदेशी ऑर्गेनिक फैक्टरी के बाहर तैनात पीएसी जवानों ने फैक्टरी के पहले तल से आग और धुआं उठते हुए देखा।

– सुबह 10:00 बजे – पीएसी जवानों ने फैक्टरी में आग लगने की सूचना लक्ष्मण झूला थाना प्रभारी को दी।

– सुबह 10: 22 बजे – लक्ष्मणझूला से भेजा गया पहला दमकल वाहन फैक्टरी पहुंचा और आग बुझाना शुरू किया।
– सुबह 10.31- लक्ष्मणझूला थाना प्रभारी विनोद सिंह गुसाईं और थाने के पुलिसकर्मी भी मौके पर पहुंच गए।
– सुबह 10:34 – आग की लपटें बढ़ती देख लक्ष्मणझूला थाना प्रभारी ने ऋषिकेश फायर स्टेशन से दूसरा बड़ा दमकल वाहन मंगाने के लिए फोन किया।
– सुबह 10.40 – एक निजी इलेक्ट्रीशियन से पुलिस ने इनवर्टर बैटरी का सप्लाई का तार कटवाया। इलेक्ट्रीशियन मनवर ने बताया कि बैटरी गर्म थी।
– सुबह 11:06 बजे – बड़ा दमकल वाहन मौके पर पहुंचा आग बुझाना शुरू किया।
– सुबह 11.32 बजे – थानाप्रभारी ने ऋषिकेश फायर स्टेशन से एक दूसरा बड़ा दमकल वाहन मंगाने के लिए फोन किया।
– दोपहर 12.01 बजे पर वाहन मौके पर पहुंच गया। लेकिन वाहन अंदर दाखिल होने मैं 8 मिनट का समय लग गया
– दोपहर 1.47 बजे – दमकल कर्मियों ने आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया।

आग लगना नहीं कोई संयोग 

महिला मंच की अध्यक्ष निर्मला बिष्ट ने कहा कि अंकिता के हत्या आरोपी पुलकित आर्य की फैक्टरी में आग लगना संयोग नहीं है। यह मौजूद साक्ष्यों को मिटाने की कोशिश है। परिसर में पुलिस का पहरा है, लेकिन फिर भी भयंकर आग लग जाती है। फायर ब्रिगेड भी वहां घंटों बाद पहुंचती है।

इन सब सवालों को उठाते हुए बिष्ट ने डीजीपी को शिकायत की है। उन्होंने पुलिस-प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। बताया कि वनंत्रा रिसोर्ट परिसर में स्थित फैक्टरी में रविवार सुबह आग लग गई है। महिला संगठनों की फैक्ट फाइंडिंग टीम जब रिसोर्ट में गई थी तो वहां पुलिस बल तैनात था। किसी को भी आस पास जाने से रोका जा रहा था। उन्होंने डीजीपी को पत्र लिखकर सवालों के जवाब खोजने की मांग की है। बताया कि इतने पुलिस बल के होते हुए उस परिसर में आग लगने की घटना कैसे संभव हुई। आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड को आने में घंटो क्यों लग गए।
जांच में नहीं बरती जाएगी कोताही 

आरोप लगाया कि पूर्व में भी रिसोर्ट के सील होने की स्थिति में बुलडोजर चला कर ऐसी कोशिश की गई। इस घटना को महजसंयोग कहकर टाला नहीं जा सकता। महिला संगठनों की फैक्ट फाइंडिंग टीम के सदस्यों का कहना है कि प्रत्यक्ष मुलाकात के समय डीजीपी ने आश्वासन दिया था कि जांच में कोताही नहीं बरती जाएगी। बावजूद इसके अग्निकांड ने फिर से आशंकित कर दिया कि अंकिता को न्याय मिल पाएगा कि नहीं। उन्होंने इस अग्निकांड की अलग से पूरी जांच की मांग की है।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates