युवाओं मेंआक्रोश: परीक्षाओं में धांधली को लेकर CBI जांच की मांग

उत्तराखंड के तमाम विभागों में हुए भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर सोमवार को छात्रों और बेरोजगार युवाओं का रैला सड़कों पर उतरा। प्रदर्शनकारियों ने चमोली जिला मुख्यालय गोपेश्वर के तिराहे पर सरकार का पुतला दहन करते हुए सरकार के विरोध में नारेबाजी की तथा जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचकर धरना दिया।

यूकेएसएसएससी से लेकर विधान सभा भर्ती के साथ ही अन्य विभागों में हुई भर्तियों में घोटालेबाजी को लेकर सोमवार को छात्रों और बेरोजगारों का हुजुम सड़कों पर उतरा और सरकार के विरोध में नारेबाजी की। जिसके बाद छात्रों ने तिराहे पर सरकार का पुतला दहन कर डीएम कार्यालय तक जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। छात्रों ने यहां पर धरना दिया। छात्रों के जुलूस के डीएम कार्यालय पर पहुंचने से कुछ ही समय पहले डीएम किसी कार्य से अपने कार्यालय से बाहर निकल गये। जिससे छात्रों में भारी रोष देखा गया। और उन्होंने डीएम चमोली के विरोध में ही नारेबाजी शुरू कर तब तक वहां से न जाने का निर्णय लिया जब तक डीएम स्वयं उनका ज्ञापन लेने के लिए धरना स्थल पर नहीं आते। हालांकि प्रशासन की ओर से दो बार एडीएम छात्रों के बीच पहुंचे मगर छात्रों ने उनकी एक न सुनी और उन्हें बैरंग ही लौटा दिया। देर सांय तक भी डीएम अपने कार्यालय पर नहीं पहुंचे थे और छात्र धरने पर भी डटे हुए रहे।

बेरोजगार युवा और छात्र सोनम बिष्ट, अंजली, पुनम, संगीता, रविना, दीपशिखा, प्रकाश, सतीश, मनोज, विपिन, रोहित, धीरज का कहना है कि पिछले पांच सालों से यूकेएसएसएससी में लगातार धांधली होती आ रही है लेकिन सरकारें इसका संज्ञान नहीं ले रहीं हैं वहीं उत्तराखंड राज्य बनने के बाद से विधान सभा में नेता अपने चेहतों को पिछले दरवाजे से भर्ती करते आ रहे हैं जिससे जो बेरोजगार युवा नौकरी की लालसा लिए हुए तैयारी कर रहा है अब वह अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है।

उन्होंने इस बात पर भी अफसोस जाहिर किया कि बेरोजगार और छात्र अपनी मांग को लेकर डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजने पहुंचे थे लेकिन जिलाधिकारी उनसे मिले ही नहीं जबकि वे जिला मुख्यालय पर ही मौजूद थे। जो इस बात को दर्शाता है कि जिला प्रशासन भी बेरोजगारों के हितों के प्रति संवेदनहीन बना हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates