पेट्रोल डीजल की बजाय बिरोजा और तारपीन तेल की इस अवैध सप्लाई

चमोली थराली -थाना पुलिस थराली ने तेल के टैंकर से पैट्रोल,डीजल के बजाय उसके तीन चैंबरों में भारी मात्रा में बिरोजा से भरें कनस्तर और एक चैंबर में तारपीन तेल चेकिंग के दौरान बरामद किया ,फिल्मी अंदाज में इस टैंकर में पेट्रोल डीजल की बजाय अवैध रूप से पाए गए बिरोजा /रेजिन के 335 कनस्तरों और तकरीबन 2500 लीटर तारपीन के तेल मिलने से हड़कम्प मच गया थाना थराली पुलिस ने टैंकर को सीज करने के साथ ही उसके चालक एवं परिचालक को गिरफ्तार कर मामले की छानबीन शुरू कर दी हैं।अभी तक इस बात का पता नही लग पाया हैं कि अवैध रूप से बिरोजा के कनस्तर एवं तारपीन तेल को कहाँ से लाया जा रहा था और इसे कहाँ भेजा जा रहा था अब तक इस बरामद माल के स्वामी का भी कोई पता नही लग सका है हालांकि पुलिस मामले में लगातार गिरफ्तार किए चालक परिचालक से पूछताछ कर रही है


मिली जानकारी के अनुसार थाना पुलिस थराली के द्वारा रविवार सुबह चेकिंग ग्वालदम-कर्णप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग पर अपर बाजार थराली में वाहन चेकिंग के दौरान ग्वालदम की ओर से एक तेल का टैंकर नंबर यूपी 83 एन 9105 आता दिखाई दिया पुलिस ने उसे भी चैकिंग के लिए रोकते हुए उसमें भरे तेल को देखने के लिए उसके एक चैंबर का ढक्कन खुलवाया तो उसमें डीजल, पैट्रोल के बजाय कुछ अन्य ही संदिग्ध लीसे जैसा पदार्थ दिखाई दिया। जिस पर पुलिस ने स्थनीय वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों से मदद ली तो मालूम पड़ा कि टैंकर के तीन चैंबरों में लीसे से बनने वाला बिरोजा कनस्तरों में रखा गया है जबकि एक चैंबर में तारपीन तेल भरा हुआ हैं। टैंकर में अवैध वन उपज से निर्मित पदार्थों के मिलने के बाद टैंकर को अपने कब्जे में लेने के साथ ही इसके चालक एवं परिचालक को हिरासत में ले लिया। कस्टडी में लिए गए टैंकर के तीन चैंबरों से 335 कनस्तर बिरोजा जिस की मात्रा करीब 6030 किलो और बाजार मूल्य न्यूनतम 100 प्रति किलो के साथ ही टैंकर के एक अन्य चैम्बर से लगभग 2500 लीटर तारपीन का तेल भी बरामद मिला।

थराली के थानाध्यक्ष ध्वजवीर सिंह पंवार ने बताया कि मामले को वन अधिनियम की विभिन्न धाराओं में पंजीकृत कर लिया है। बताया कि टैंकर के चालक, परिचालक से पूछताछ की जा रही है उन्होंने कहा पूछताछ में चालक ने बताया कि टैंकर कौसानी से कर्णप्रयाग की ओर ले जाया जा रहा था लेकिन इस अवैध रूप से परिवहन हो रहे माल को चालक द्वारा कहाँ ले जाया जाना था इसके बारे में चालक से पूछताछ की जा रही है।अब तक चालक के द्वारा पुख्ता जानकारी नही दी गई हैं मामले में उससे पूछताछ जारी है। इस मामले में बद्रीनाथ वन प्रभाग के मध्य पिंडर रेंज थराली के वन क्षेत्राधिकारी हरीश थपलियाल ने बताया कि अवैध रूप से परिवहन किया जा रहा बिरोजे के साथ ही तारपीन तेल की कुल कीमत लाखों में है।वन विभाग भी इस मामले में आवश्यक कार्रवाई कर रहा है।

पुलिस टीम में मौके पर थानाध्यक्ष थराली ध्वजवीर पंवार समेत उप निरीक्षक अमित नौटियाल, रणबहादुर सिंह, मनमोहन सिंह,वन विभाग की ओर से हरीश थपलियाल वनक्षेत्राधिकारी बद्रीनाथ वन प्रभाग थराली, वन दरोगा माखनलाल, रघुवीर लाल आदि मौजूद थे।
तेल के टैंकर के जरिये पेट्रोल डीजल की बजाय बिरोजा और तारपीन तेल की इस अवैध सप्लाई के इस खेल की जड़े कितनी गहरी हैं ये जांच के बाद ही सामने आ पायेगा

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates