पेन-इंडिया फाउंडेशन का वार्षिक कैलेंडर ‘बारामास-2022’ स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को समर्पित

संजय राठौर

गढ़वाली लोकभाषा में उत्तराखंड के पहले कैलेंडर ‘बारामास-2022’ का विमोचन

पेन-इंडिया फाउंडेशन का वार्षिक कैलेंडर ‘बारामास-2022’ स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को समर्पित

-माननीय केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने किया वार्षिक कैलेंडर का विमोचन

-शिक्षा व सामाजिक विकास के साथ पेन-इंडिया फाउंडेशन के प्रयास को सराहा

डोईवाला- पेन-इंडिया फाउंडेशन (पीआईएफ) ने अपने चतुर्थ वार्षिक कैलेंडर ‘बारामास-2022’ को उत्तराखंड के महान् स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को समर्पित किया। माननीय केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट जी ने कैलेंडर का विमोचन किया। इसमें उत्तराखंड के महान् स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को उनके संक्षिप्त विवरण के साथ शामिल किया गया है।

माननीय केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट जी ने पीआईएफ के चतुर्थ वार्षिक कैलेंडर ‘बारामास-2022’ देहरादून स्थित अपने कार्यालय में विमोचन किया। कैलेंडर का विमोचन करते हुए माननीय केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट जी ने कहा कि बारामास वार्षिक कैलेंडर में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के जीवन परिचय को जिस तरह संक्षित विवरण के साथ शामिल किया गया वो एक सराहनीय व अभिनव पहल है। स्कूल के नौनिहालों व युवाओं को उत्तराखंड के इन महान् विभूतियों को जानने का मौका मिलेगा।

पेन-इंडिया फाउंडेशन के संरक्षक डॉ.प्रकाश केशवया ने कहा कि पेन-इंडिया स्कूल के माध्यम से निर्धन बच्चों को निशुल्क व गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया कराई जा रही है। बच्चों को एक्टिविटी व डिजिटली बेस्ड एजुकेशन देना फाउंडेशन का लक्ष्य है। पीआईएफ के संस्थापक अनूप रावत सांस्कृतिक, इतिहासकार व मीडिया जगत के जानकारों से विचार-विमर्श के बाद कैलेंडर का कंटेट तैयार किया गया। हमारा लक्ष्य युवाओं को राष्ट्र व राज्य निर्माण में उत्तराखंड की अंजान विभूतियों से रुबरू करवाना है। इस दौरान सहसंस्थापक संतोष बुड़ाकोटी,   संजय गैरोला, प.भगवती प्रसाद उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

पेन-इंडिया फाउंडेशन के वार्षिक कैलेंडर में शामिल स्वतंत्रता सेनानी

क्रांतिवीर कालू महर, स्वतंत्रता आंदोलनकारी ‘कुमाऊं केसरी’ पं.बद्रीदत्त पांडे, स्वतंत्रता आंदोलनकारी बैरिस्टर मुकुंदी लाल, स्वतंत्रता सेनानी वीर चंद्र सिंह ‘गढ़वाली’, स्वतंत्रता आंदोलनकारी ‘गढ़-केसरी’ अनुसूया प्रसाद बहुगुणा, स्वतंत्रता आंदोलनकारी भैरव दत्त धूलिया, स्वतंत्रता आंदोलनकारी बिशनी देवी शाह, क्रांतिकारी भवानी सिंह रावत, अमर शहीद मेजर दुर्गा मल्ल, स्वतंत्रता सेनानी साधु सिंह बिष्ट, अमर शहीद वीर केसरी चंद, स्वतंत्रता आंदोलनकारी परिपूर्णानंद पैन्यूली

 

हिंदी के साथ ‘गढ़वाली लोकभाषा में भी ‘बारामास’ कैलेंडर प्रकाशित

पेन-इंडिया फाउंडेशन (पीआईएफ) के सहसंस्थापक संतोष बुड़ाकोटी ने कहा कि वार्षिक कैलेंडर बारामास-2022 का प्रकाशन इस वर्ष हिंदी के साथ उत्तराखंड की लोक भाषा गढ़वाली में भी किया गया है। यह उत्तराखंड का पहला लोक भाषा गढ़वाली में प्रकाशित कैलेंडर है। इसका उद्देश्य युवाओं को को अपनी जड़ों व भाषा से जोड़ना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates