कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने डीजीपी से की मुलाकात

कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने डीजीपी से की मुलाकात, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ भाजपा नेताओं द्वारा किये गये दुःष्प्रचार की शिकायत कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की।

देहरादून- प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने प्रदेश उपाध्यक्ष संगठन/प्रशासन मथुरादत्त जोशी के नेतृत्व में प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से मुलाकात कर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ भाजपा नेताओं द्वारा किये गये दुःष्प्रचार की शिकायत करते हुए सम्बन्धितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की।

पुलिस महानिदेशक के सौंपे शिकायती पत्र में कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं द्वारा विगत कुछ वर्षों विशेषकर विगत विधानसभा-2022 के चनुाव प्रचार के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, पूर्व सांसद एवं उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की राजनैतिक एवं सामाजिक छवि को धूमिल करने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान एक व्यक्ति द्वारा मुस्लिम यूनिवर्सिटी को लेकर दिये गये बयान का श्री हरीश रावत से कोई लेना-देना नहीं था और न ही उन्होंने कभी किसी समाचार पत्र अथवा इलेक्ट्राॅनिक मीडिया में इस प्रकार का कोई बयान या वक्तव्य दिया। इसके बावजूद भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों द्वारा विभिन्न मीडिया प्रचार माध्यमों तथा सोशल मीडिया के माध्यम से श्री हरीश रावत की व्यक्तिग राजनैतिक एवं सामाजिक छबि को धूमिल करने की नीयत से मिथ्या प्रचार किया जा रहा है जिससे उनकी राजनैतिक छबि को भारी क्षति हुई है। भाजपा नेताओं द्वारा दिनांक 2 फरवरी, 2022 को श्री हरीश रावत जी को उत्तराखण्ड में मुस्लिम यूनिवर्सिटी स्थापित करने के नाम पर जोडा गया जिसका श्री हरीश रावत ने राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तरीय मीडिया चैनलों के माध्यम से जवाब देते हुए मुस्लिम यूनिवर्सिटी स्थापित करने की बात का पुरजोर तरीके से खंडन किया तथा उनके इस बयान/वक्तव्य को विभिन्न मीडिया चैनलों एवं सोशल मीडिया चैनलों के माध्यम से प्रचारित-प्रसारित हुआ। इसके बावजूद भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों एवं नेताओं द्वारा अपनी पार्टी की सोशल साईड पर मुस्लिम यूनिवर्सिटी वाले बयान से श्री हरीश रावत का नाम जोडते हुए उनकी तस्वीर को फोटोशाॅप से एडिट कर ट्विटर, फेसबुक व सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचारित किया गया तथा श्री हरीश रावत जी द्वारा उनके माध्यम से ऐसे किसी भी वक्तव्य का बार-बार खण्डन किया जाता रहा।
कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा भाजपा नेताओं के इस दुष्प्रचार का संज्ञान लेते हुए दिनांक 3 फरवरी, 2022 को राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से प्रतिनिधिमण्डल के रूप में मुलाकात कर ज्ञापन सौंपते हुए अपनी आपत्ति दर्ज कराई गई तथा दुष्प्रचार करने वालों के खिलाफ भारत निर्वाचन आयोग की गाईड लाईन के अनुसार सक्षम धाराओं में कार्रवाई का अनुरोध किया गया। निर्वाचन आयोग द्वारा कांग्रेस पार्टी की शिकायत का संज्ञान लेते हुए सम्बन्धित भाजपा नेताओं को नोटिस भी जारी किया गया। इसी संदर्भ में कांगे्रस कार्यकर्ता श्री प्रवेश रावत द्वारा दिनांक 3 फरवरी, 2022 को थाना कोटद्वार में तहरीर दी गई जिसका कोई संज्ञान नहीं लिया गया। प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी श्री मनीष कर्णवाल ने इसी संदर्भ में दिनांक 15 मार्च, 2022 को अपनी आपत्ति दर्ज कराते हुए जनपद हरिद्वार के थाना कनखल में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई गई इस पर भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है।
कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एवं उसके नेताओं द्वारा बार-बार शिकायत दर्ज कराने के उपरान्त कोई कार्रवाई न होने के परिणामस्वरूप भाजपा नेताओं के हौसले बुलंद होते गये तथा उनके द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ लगातार मीडिया एवं सोशल मीडिया में झूठे, मनगढंत एवं मिथ्या आरोप वाले बयान दिये गये जिससे न केवल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व सांसद की राजनैतिक एवं सामाजिक छबि धूमिल हुई अपितु इसका खामियाजा कांग्रेस पार्टी को विधानसभा चुनाव में हार के रूप में भी देखना पडा। यही नहीं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं द्वारा भी इस मिथ्या प्रचार को अपनी चुनावी सभाओं के दौरान प्रचारित किया गया।

कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने मांग की कि भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता के खिलाफ किये गये इस प्रकार के मिथ्या दुःष्प्रचार से पार्टी कार्यकर्ताओं के सम्मान को भी भारी ठेस पहुंची है। कांग्रेस पार्टी भारतीय लोकतंत्र एवं भारतीय संविधान तथा कानून में पूरी आस्था रखती है तथा हमें विश्वास है कि उपरोक्त तथ्यों का संज्ञान लेते हुए भारतीय जनता पार्टी के उन नेताओं के खिलाफ जिनके द्वारा श्री हरीश रावत जी की तस्वीर को एडिट करते हुए मुस्लिम यूनिवर्सिटी वाले बयान से जोड़ा गया, के खिलाफ सक्षम धाराओं में मामला दर्ज करने के आदेश देने की कृपा करेंगे।
कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने भाजपा नेताओं द्वारा दिये गये वक्तव्यों एवं ट्वीट किये गये सोशल मीडिया क्लिपिंग के लिंक भी संलग्न कर प्रस्तुत किये।

प्रतिनिधिमण्डल में प्रदेश उपाध्यक्ष संगठन/प्रशासन मथुरादत्त जोशी के अलावा प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, पूर्व विधायक मनोज रावत, प्रदेश उपाध्यक्ष पूरण सिंह रावत, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार, निवर्तमान गढवाल मण्डल मीडिया प्रभारी एवं मीडिया पैनलिस्ट गरिमा दसौनी, पूर्व मंत्री अजय सिंह, मीडिया पैनलिस्ट अमरजीत सिंह, मनीष कर्णवाल आदि शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates