हरक की अब बहुगुणा को दो-टूक

देहरादून। काबीना मंत्री होते हुए भी अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा करने वाले हरक सिंह रावत ने अब भाजपा नेता विजय बहुगुणा को भी दो-टूक सुना दी है। ऐसे में सवाल यह खड़ा हो रहा है कि हरक सिंह भाजपा में रहकर ही 2022 का चुनाव लड़ेगे या फिर कांग्रेस का दामन थाम लेंगे।

कांग्रेसी मूल के कुछ भाजपा विधायकों के पाला बदलने की आशंका के बीच हाईकमान ने दिग्गज विजय बहुगुणा को काम पर लगाया है। यहां बता दें कि 2016 में कांग्रेसी विधायकों ने बहुगुणा के लीडरशिप में ही बगावत की थी। बहुगुणा कई विधायकों से मिले और फिर सीएम पुष्कर धामी से भेंट में कहा कि ऑल इज वेल।

लेकिन हरक सिंह रावत के सुर बता रहे हैं कि सब कुछ ऑल इज वेल नहीं है। रावत ने बहुगुणा से भेंट के बाद मीडिया ने सवाल किया तो हरक बोले, मैंने तो साफ कह दिया कि साढ़े चार साल तक तो आप मेरे पास चाय पीने भी नहीं आए। हरक के ये बोल साफ इशारा कर रहे हैं कि उन्हें बहुगुणा से भेंट रास नहीं आई। हरक इससे पहले भी सरकार के खिलाफ अपनी भड़ास निकाल चुके हैं।

हरक सिंह एक तरफ तो यह कह रहे हैं कि वे कहीं नहीं जा रहे हैं और दूसरी तरफ अपनी ही पार्टी के नेताओं और भाजपा सरकार पर हमले कर रहे हैं। ऐसे में सियायी जानकार भी नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिरकार हरक सिंह किसी सियासी गुणा-भाग में लगे हैं और कौन सा सवाल हल करने की कोशिश में हैं। हां, सियासी गलियारों में इतना जरूर कहा जा रहा है कि हरक कभी भी कोई अप्रत्याशित फैसला कर सकते हैं।

भाजपा में रहते हुए पार्टी नेताओं व सरकार को खरी-खरी

साढ़े चार साल में तो चाय पीने भी न आए विजय

कोई समझ नहीं पा रहा रावत का सियासी गणित

सवालः क्या छोड़ेगे भाजपा और जाएंगे कांग्रेस में

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates