अंधेरे गांव में, उत्साही युवाओं ने खुद ही गांव में पहुंचा दिया ट्रांसफार्मर

चमोली से 15 किलोमीटर कि दूरी पर बसा … निजमूला घाटी के पगना गांव के युवाओं ने दो किलोमीटर तक खड़ी चढ़ाई पर ट्रांसफार्मर को कंधे में ले जाकर गांव में बिजली सप्लाई शुरू करा दी। पिछले 12 दिन पूर्व मसीन जलने से गावँ में हो गग था… दो सप्ताह से गांव में बिजली सप्लाई बंद पड़ी हुई है। जिससे ग्रामीण छिल्लों के सहारे रात गुजार रहे हैं। चार अगस्त को पगना गांव में ट्रांसफार्मर जल गया था, ट्रांसफार्मर जलने से गांव बच्चे को पडने काफी दिंक्कते हे रही थी । जिसके बाद ग्रामीणों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से गांव में नया ट्रांसफार्मर स्थापित करने की मांग उठाई। लेकिन मांग पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। मंगलवार को गांव के एक दर्जन युवा बिजली विभाग के कार्यालय में पहुंचे और ट्रांसफार्मर को वाहन में साथ लेकर पगना गांव के नीचे वाहन से उतारा। यहां से युवाओं ने करीए दो किलोमीटर तक खुद ही चार ‌क्विंटल के ट्रांसफार्मर को कंधे पर लकड़ी के डंडों के सहारे गांव तक पहुंचाया। इन उत्साही युवाओं की चारों ओर सराहना हो रही है। गांव के युवक मंगदल अध्यक्ष मकर सिंह फरस्वाण, भरत सिंह, अनिल, कुलदीप, प्रदीप, संतोष, मनोज, पूरण सिंह, भीम सिंह, ताजबर, हिम्मत सिंह आदि ने ट्रांसफारमर को गांव तक पहुंचाने में सहयोग किया।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates