ये 5 आउटडोर गेम्स बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास को बढ़ावा देने में हैं सहायक

हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है, जिसका उद्देश्य बच्चों के समग्र विकास को बढ़ावा देना है। लेकिन आजकल कई बच्चों को आधुनिक उपकरणों की लत लग चुकी है, जो उन्हें शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से नुकसान पहुंचा रहे हैं। इसलिए अपने बच्चों को इन उपकरणों से दूर रखें। आइए आज पांच ऐसे आउटडोर गेम्स के बारे में जानते हैं, जो बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास करने में मदद कर सकते हैं।

फुटबॉल
इसके लिए पहले खुले मैदान का चयन करें और बच्चों का दो ग्रुप बनाएं। इसके बाद मैदान की दो तरफ दो लाइन बनाएं, जो फुटबॉल से गोल करने की लाइन होगी। फिर दोनों टीम फुटबॉल से खेलना शुरू करें और गोल करने की कोशिश करें। ग्रुप का जो भी सदस्य सामने वाले के गोल पोस्ट पर फुटबॉल पहुंचाता है उसे एक पॉइंट मिलता है। हालांकि, इस खेल के लिए एक समय सीमा निर्धारित करनी होती है।

छुपन-छुप्पाई
इसके लिए बच्चों का एक ग्रुप होना चाहिए। ग्रुप में से एक बच्चा डेन देता है और बाकि बच्चे अलग-अलग छुप जाते हैं और डेन वाला बच्चा किसी भी छिपे हुए बच्चे को पहले ढूंढता है, उसकी अगली बारी डेन देने की होती है। हालांकि, इससे पहले डेन वाले बच्चे को सभी बच्चों को ढूंढना होता है। वहीं, अगर छिपे बच्चों में से डेन वाले बच्चे को धप्पा कर देता है तो उसे ही अगली बार डेन देनी पड़ती है।

खो-खो
यह एक पुराना खेल है, जिसके लिए बच्चों को दो ग्रुप में बांटें। इसके बाद टॉस से डिसाइड करें कि कौन-सा ग्रुप दौड़ेगा और कौन-सा बैठेगा। बैठने वाले ग्रुप का एक सदस्य आगे की तरफ और दूसरा पीछे की तरफ मुंह करके बैठेगा। दौड़ के दौरान बैठी टीम के सदस्य एक-दूसरे को छूकर उठाते हैं, फिर जिसे छुआ जाता है वो सामने वाले को पकडऩे के लिए दौड़ता है। ऐसा दौडऩे वाली टीम के सदस्या को पकडऩे तक चलता है।

बैडमिंटन
इसके लिए दो बच्चो का एक-दूसरे से लगभग 10 से 15 फीट दूर होना जरूरी है। अब इस खेल को खेलने के लिए बैडमिंटन से हवा में कॉक उड़ाकर दूसरे बच्चे की तरफ फेंके और दूसरे बच्चे का निशाना इतना तेज होना चाहिए कि कॉक उसके सामने वाले बच्चे के पास जाए। इस दौरान कॉक जिस बच्चे की तरफ जमीन पर गिरेगी वो खेल में एक पॉइंट हार जाएगा। इस तरह से यह खेल 10-10 पॉइंट का होता है।

आंख-मिचौली
आंख-मिचौली के लिए पांच-छह बच्चे होने चाहिए, जिसमें से एक डेन देगा। डेन देने वाला बच्चे की आंखों पर सूती कपड़ा बांध दें। इसके बाद डेन वाले बच्चे को दो बार गोल-गोल घुमाएं और फिर छोड़ दें। फिर बाकि बच्चों को डेन वाले बच्चे के आस-पास रहते हुए भागना होता है और डेन बने खिलाड़ी को उन्हें पकडऩे की कोशिश करनी होती है। अगर डेनर किसी को पकड़ लेता है तो उस बच्चे की अगली बारी देनी पड़ती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates