केदारनाथ धाम की यात्रा में इस बार बने कई नए रिकॉर्ड, अरबों का हुआ कारोबार

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम की यात्रा में इस बार कई नए रिकॉर्ड बने हैं। यहां अभी तक 15.55 लाख से अधिक तीर्थयात्री बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। अकेले घोड़ेवालों ने 1.09 अरब का कारोबार किया है। इससे उन्होंने 1.01 अरब रुपये कमाए हैं। वहीं, हेली कंपनियों ने किया 75 करोड़ का कारोबार किया। लगभग 1.5 लाख तीर्थयात्री हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचे। डंडी कंडी से भी लगभग 86 लाख की हुई कमाई

इस साल 6 मई को विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम के कपाट तीर्थयात्रियों के लिए खोले गए। पहले ही दिन 20 हजार से अधिक तीर्थयात्री दर्शन के लिए पहुंचे थे। बुधवार को कपाट बंद होने के एक दिन पहले 15,55,543 तीर्थयात्री बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। केदारनाथ के लिए करीब 17 किमी की पैदल दूरी तय हरनी होती है। यात्रा का सुगम बनाने के लिए प्रशासन ने 4302 घोड़ा मालिकों के कुल 8644 घोड़े खच्चर पंजीकृत किए थे। घोड़े खच्चरों से 5.34 लाख तीर्थयात्रियों ने केदारनाथ के दर्शन किए।

डंडी कंडी से 86.56 लाख की कमाई जिला पंचायत यात्रियों की सुविधा के लिए केदारनाथ आने-जाने के लिए डंडी-कंडी भी उपलब्ध करवाता है। 39664 यात्रियों ने डंडी-कंडी में बैठकर यात्रा की। इससे कुल 86 लाख 76 हजार 300 रुपये की कमाई हुई। केदारनाथ मंदिर के गर्भ गृह की दीवारों में सोने की परत चढ़ा दी गई है। कपाट बंद होने से ठीक एक दिन यह काम पूरा हुआ है। इस काम पर 19 कारीगर लगाए गए थे। गर्भ गृह की चारों दीवार और भगवान के स्वयं लिंग की जलेरी में सोने की करीब 560 प्लेटें लगाई गई।

इस बार 9 हेलीकॉप्टर कंपनियों केदारनाथ यात्रा में सेवा दे रही थीं। 1.50 लाख तीर्थयात्री हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचे, जबकि केदारनाथ से वापसी में 1.49 लाख तीर्थयात्री आए। प्रति यात्री औसतन 5 हजार रुपये किराए के हिसाब से करीब 75 करोड़ 40 लाख का करोबार हुआ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates