उत्तराखंड के गरीब छात्र-छात्राओं के लिए खुशखबरी, शिक्षाविद् ललित जोशी ने ली 300 छात्रों का भविष्य संवारने की जिम्मेदारी

पहले आओ-पहले पाओ की तर्ज पर मिलेगा एडमिशन 

हल्द्वानी। राज्य के उन छात्र-छात्राओं के लिए अच्छी खबर है, जो परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं होने के कारण पसंदीदा कॉलेजों या पाठ्यक्रमों में दाखिला नहीं ले पा रहे हैं। ऐसे करीब 300 छात्रों को कंबाइंड (पीजी) इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च (सीआईएमएस) व उत्तरांचल इंस्टीट्यूट ऑफ हॉस्पिटेलिटी एंड टूरिज्म द्वारा निशुल्क उच्च शिक्षा दी जाएगी। इच्छुक छात्र 30 नवंबर तक सीआईएमएस देहरादून की वेबसाइट के जरिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदकों को पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर दाखिला मिलेगा।

सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित जोशी ने मंगलवार को इस संबंध में नैनीताल रोड स्थित एक होटल में पत्रकार वार्ता की। बताया कि 12वीं के बाद कई युवा अच्छे कॉलेजों में मेडिकल, टेक्नोलॉजी, बीबीए, बीसीए, मास कम्युनिकेशन जैसे कोर्स करना चाहते हैं। लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक न हो पाने के कारण वे ऐसा नहीं कर पाते हैं। इन युवाओं का भविष्य संवारने के लिए उनके संस्थान ने राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर 300 छात्र-छात्राओं को प्रतिवर्ष निशुल्क शिक्षा प्रदान करने का मन बनाया है। इस पहल को प्रदेश में प्रचारित-प्रसारित करने के लिए बॉलीवुड अभिनेता हेमंत पांडे को ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Corona Live Updates